हमारी नन्ही परी

हमारी नन्ही परी
पंखुरी

Monday, March 26, 2012

A new world is waiting for Pankhuri Beti

Now ...only 1 day to go.......परसों यानी २८ मार्च से पंखुरी की नयी दुनिया का आग़ाज़ होगा...नयी-नयी रंग-बिरंगी स्टेशनरी और ड्रेस आ चुकी है.स्कूल बैग तैयार हो रहा है....बुक्स पर कवर चढ़ाये जा रहे हैं..बिटिया को समझ में आ चुका है स्कूल में उन्हें बहुत देर तक पापा-मम्मी-बुआ-चाचू और बाबा के बिना रहना होगा फिर उसके बाद .....

बिटिया खुद सबको बता रही हैं कि '' फिल पापा आयेंगे हमें घर ले कल   जायेंगे.''  
आज हमने सोचा है कि इससे पहले कि पंखुरी बेटी स्कूल जाना शुरू करें क्यों न हम उनकी बनाई वो सारी ड्राइंग्स आप सबसे शेयर कर डालें जो बेटी ने स्कूल जाने से पहले ही बना लीं हैं .इनमें वाटर कलर, पेन्सिल कलर , स्केच कलर इस्तेमाल किये गए है... थोड़ी बहुत मदद बुआ की और सारी इमेजिनेशन और मेहनत बेटी की....

ये पहली बार पंखुरी ने वाटर कलर यूज़ किया था ...बस यूं ही से स्ट्रोक्स लगाये  और  देखिये कुछ-कुछ  मशरूम जैसी  शक्ल बन  गयी ...है न....
सच है ..कल्पना का साथ हो तो सब संभव है :-)
ड्रा किया बुआ ने कलर किया पंखुरी ने....
ज़रा स्ट्रोक्स की सफाई तो देखिये...
इस फोटो में दिख रहे हैं बैट, बाल, साइकिल, और चोटी वाला बाबू...
( बाबू को बनाया पापा ने )



वाटर कलर से बनी सीनरी...आउट लाइन बनायीं बुआ ने...
कलर किया  बेटी ने...
रात के समय आकाश में ट्विंकल-ट्विंकल लिटिल स्टार्स...और बदली
 में छुपे चंदा मामा... (ये छुपने वाला इफेक्ट तब आ गया जब बेटी वाटर कलर को इरेज़र से मिटने की कोशिश कर रही थीं...ही-ही-ही.)


मैन्गोज़ छोटे-बड़े 
पानी में पीकोंक.... कभी देखा था पहले :-D

orange घेरे में इन्सी-विंसी स्पाइडर.....दिखा क्या ???

ये पंखुरी ने बनाया है बाबू.....

है न मज़ेदार.... और हाँ सनद रहे की नन्ही पंखुरी की ये कलाकारी उनके स्कूल जाने से बहुत पहले की है !!!
:-D

3 comments:

  1. अरे पंखुरी तो अभी से ही आर्टिस्ट बन गयी... मैं तो सोचती थी मैं ही बहुत अच्छी ड्राइंग बनाती हूँ लेकिन अब तो लगता है पंखुरी मुझे भी पीछे छोड़ देगी...Keep it up Pankhuri!!!...Good going!!!!

    ReplyDelete
  2. बहुत सुंदर

    ReplyDelete
  3. pankhuri ki to bahut saari baate uski toshi didi se milti hai.
    bhai waah, well done pankhuri

    ReplyDelete